PM Viswakarma Yojana Apply Online, Registration Process

Sharing Is Caring:
WhatsApp Group (Join Now) Join Now
Telegram Group (Join Now) Join Now
Facebook Page (Join Now) Join Now
Rate Our Post
Contents hide
13 FAQs (पूछे जाने वाले प्रश्न)

PM Viswakarma Yojana Apply Online: श्रमिकों को सशक्त बनाने के लिए

PM Viswakarma Yojana Apply Online, Pradhan Mantri Vishwakarma Yojana 2023 | पीएम विश्वकर्मा योजना आवेदन | Vishwakarma Scheme Details | Vishwakarma Yojana Application Forms | विश्वकर्मा योजना अनलाइन आवेदन | पीएम विश्वकर्मा लोन योजना, PM Vishwakarma Yojana 2023, Vishwakarma Yojana MP, विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना Form PDF, विश्वकर्मा योजना सिलाई मशीन, विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना Status, विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना टोल फ्री नंबर, PM Vishwakarma Scheme How to Apply, श्रम रोजगार योजना ऑनलाइन फॉर्म UP, Pradhan Mantri Viswakarma Yojana Application, Pradhan Mantri Viswakarma Yojana Last Date, Pradhan Mantri Viswakarma Yojana CSC Login, PM Vishwakarma Yojana Online Apply, PM Vishwakarma Yojana 2023, PM Vishwakarma Yojana Official Website, PM Vishwakarma Scheme How To Apply, PM Vishwakarma Scheme Eligibility, PM Vishwakarma Csc Login, Vishwakarma Scheme 2023 Apply Online

Who are Vishwakarma in our Society – हमारे समाज में विश्वकर्मा कौन हैं?

हमारे देश में, कई कुशल श्रमिक, जिन्हें अक्सर ‘Vishwakarma‘ के नाम से जाना जाता है, जो अपने हाथों, औजारों और उपकरणों का उपयोग करके चीजें बनाते हैं। इन कुशल लोगों में लोहार, सुनार, कुम्हार, बढ़ई, मूर्तिकार, कारीगर और राजमिस्त्री शामिल हैं। सरकार ने इन मेहनती पेशेवरों का समर्थन करने के लिए नए कार्यक्रम शुरू किए हैं।

Pradhan-Mantri-Vishwakarma-Yojana-2024

ये कार्यक्रम इन प्रतिभाशाली व्यक्तियों की सहायता के लिए प्रशिक्षण, प्रौद्योगिकी, ऋण और बाज़ार सहायता प्रदान करते हैं। पीएम विश्वकर्मा सम्मान, या प्रधान मंत्री विश्वकर्मा योजना(Pradhan Mantri Viswakarma Yojana) सम्मान, कई विश्वकर्माओं के जीवन में एक बड़ा बदलाव लाएगा।

What is Pradhan Mantri Vishwakarma Yojana – विश्वकर्मा योजना क्या है?

प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा 17 सितंबर, 2023 को अपने जन्मदिन पर शुरू की गई Pradhan Mantri Viswakarma Yojana एक महत्वाकांक्षी पहल है, जिसका उद्देश्य भारत में विभिन्न प्रकार के कारीगरों को किफायती ऋण प्रदान करना है। सरकार ने इस योजना के लिए 13,000 करोड़ रुपये का बजट आवंटित किया है. इसका प्राथमिक लक्ष्य देश भर के कारीगरों के काम का समर्थन और उत्थान करना है।

Read Also:  Mukhyamantri Shikshuta Protsahan Yojana 2023: ट्रेनिंग के साथ 9,000 रूपये दे रही सरकार

योजना के लिए आवेदन अब खुले हैं और आधिकारिक वेबसाइट pmvishwakarma.gov.in के माध्यम से जमा किए जा सकते हैं। सरकार का उद्देश्य कारीगरों को अनुकूल ब्याज दरों पर ऋण प्रदान करके उनकी आजीविका को सशक्त बनाना और बढ़ाना है।

PM Vishwakarma Scheme – Highlights(पीएम विश्वकर्मा योजना – मुख्य विशेषताएं)

Here’s the Pradhan Mantri Viswakarma Yojana information:

मुख्य बिंदुविवरण
योजना का नामPradhan Mantri Viswakarma Yojana (प्रधानमंत्री विश्वकर्मा योजना)
मंजूरीयोजना को संघ बजट 2023-24 में मंजूरी मिली और 15 अगस्त 2023 को घोषित किया गया
शुरू करनायोजना को 17 सितंबर 2023 को विश्वकर्मा जयंती पर शुरू किया गया
उद्देश्यपारंपरिक कौशल वाले लोगों को कम ब्याज वाले ऋण और कौशल प्रशिक्षण के माध्यम से समर्थन प्रदान करना
ऋण राशिपहली किश्त में ₹1 लाख तक, और दूसरी किश्त में और ₹2 लाख
ऋण ब्याज दरऋण 5% वार्षिक ब्याज दर पर प्रदान किया जाएगा
लाभार्थियों की संख्यालगभग 30 लाख पारंपरिक शिल्पकार और कारीगर, जैसे की बुनाईदार, सुनार, लोहार, धोबी, और नाई
लाभपीएम विश्वकर्मा प्रमाण पत्र और आईडी कार्ड के माध्यम से पहचान, ऋण समर्थन, कौशल अद्यतन, टूलकिट प्रोत्साहन, डिजिटल लेन-देन के लिए प्रोत्साहन, और विपणन समर्थन
लक्ष्यपारंपरिक कौशलों की गुरु-शिष्य परंपरा को मजबूत करना, उत्पाद/सेवाओं की गुणवत्ता और पहुंच को सुधारना, शिल्पकारों को घरेलू और वैदेशिक मूल्य शृंखलाओं से जोड़ना
शामिल व्यापार18 व्यापार शामिल हैं: बढ़, नाव निर्माणकर्ता, कवचकार, लोहार, हथौड़ा और उपकरण निर्माणकर्ता, ताला मिस्त्री, सुनार, कुम्हार, मूर्तिकार, मोची, मिस्त्री, टोकरी/चटाई/झाड़ू निर्माणकर्ता, गुड़िया और खिलौना निर्माणकर्ता, नाई, माला निर्माणकर्ता, धोबी, दर्जी, माछुआ जाल निर्माणकर्ता
कवरेजभारत के ग्रामीण और शहरी शिल्पकार और कारीगरों को शामिल करता है
कुल बजट5 वर्षों के लिए ₹13,000 से ₹15,000 करोड़
Who-will-get-the-Benefit-of-PM-Vishwakarma-Scheme

Objective of PM Vishwakarma Yojana(पीएम विश्वकर्मा योजना का उद्देश्य)

पीएम विश्वकर्मा योजना के स्पष्ट लक्ष्य हैं:

मान्यता: कारीगरों को “विश्वकर्मा” के नाम से जाना जाए ताकि वे योजना का लाभ उठा सकें।

कौशल सुधार: प्रशिक्षण के साथ उन्हें अपनी कला में बेहतर होने में मदद करें।

टूल अपग्रेड: बेहतर, तेज और उच्च गुणवत्ता वाले काम के लिए आधुनिक उपकरण प्रदान करें।

आसान ऋण: उन्हें बिना किसी गारंटी के और कम ब्याज दरों पर ऋण दें।

डिजिटल बूस्ट: डिजिटल भुगतान और लेनदेन को प्रोत्साहित करें।

बाज़ार तक पहुंच: उन्हें अपने ब्रांड को बढ़ावा देने और नए अवसरों से जुड़ने में मदद करें।

Benefits of PM Vishwakarma Yojana (पम विश्वकर्मा योजना के लाभ)

Pradhan Mantri Viswakarma Yojana के लाभों का उद्देश्य कारीगरों को सशक्त बनाना और प्रशिक्षण, वित्तीय सहायता और विपणन सहायता के माध्यम से उनके व्यवसाय को बढ़ावा देना है।

मान्यता: कारीगरों को विश्वकर्मा के रूप में मान्यता मिल सकती है और एक प्रमाण पत्र और आईडी कार्ड प्राप्त हो सकता है।

रियायती ब्याज दर: लाभार्थियों से 5% की कम ब्याज दर ली जाएगी, और सरकार ब्याज लागत पर 8% तक की सब्सिडी देगी।

कौशल: कारीगर बुनियादी और उन्नत प्रशिक्षण विकल्पों सहित, प्रति दिन 500 रुपये के वजीफे के साथ प्रशिक्षण प्राप्त कर सकते हैं।

टूलकिट प्रोत्साहन: कारीगरों को उनके काम का समर्थन करने के लिए 15,000 रुपये का अनुदान मिलता है।

क्रेडिट सहायता: संपार्श्विक-मुक्त ऋण उपलब्ध हैं, व्यवसाय विकास के लिए पहली किश्त 1 लाख रुपये और दूसरी किश्त 2 लाख रुपये है।

डिजिटल लेनदेन के लिए प्रोत्साहन: डिजिटल लेनदेन को बढ़ावा देने के लिए कारीगरों को मासिक 100 लेनदेन तक प्रति लेनदेन 1 रुपये मिलते हैं।

विपणन सहायता: नेशनल कमेटी फॉर मार्केटिंग (एनसीएम) गुणवत्ता प्रमाणन, ब्रांडिंग, ई-कॉमर्स कनेक्शन, व्यापार मेले में भागीदारी, विज्ञापन और प्रचार समर्थन जैसी सेवाएं प्रदान करती है।

Read Also:  Mukhyamantri Sashakt Behna Utsav Yojana रजिस्ट्रेशन 2023

What are the Eligibility Criteria of Pradhan Mantri Viswakarma Yojana? (पात्रता मापदंड)

Pradhan Mantri Viswakarma Yojana के लिए पात्र होने के लिए, आपको पारंपरिक परिवार-आधारित व्यापार में अपने हाथों और औजारों से काम करने वाला एक कारीगर या शिल्पकार होना चाहिए, विशेष रूप से असंगठित क्षेत्र में एक स्व-रोज़गार व्यक्ति के रूप में। यहां सरल शब्दों में बुनियादी मानदंड दिए गए हैं:

  1. आयु आवश्यकता: पंजीकरण करते समय आपकी आयु कम से कम 18 वर्ष होनी चाहिए।
  2. वर्तमान संलग्नता: पंजीकरण के समय आपको अपने व्यापार में सक्रिय रूप से शामिल होना चाहिए। इसका मतलब है कि आप पारंपरिक व्यापार में काम कर रहे हैं।
  3. कोई पिछला समान ऋण नहीं: आपको पिछले 5 वर्षों में स्व-रोज़गार या व्यवसाय विकास के लिए अन्य सरकारी योजनाओं से ऋण नहीं लेना चाहिए। इसमें पीएमईजीपी, पीएम स्वनिधि और मुद्रा जैसे कार्यक्रम शामिल हैं।
  4. परिवार का एक सदस्य: प्रति परिवार केवल एक ही व्यक्ति योजना के लिए पंजीकरण कर सकता है और इससे लाभ उठा सकता है। एक ‘परिवार’ आपका जीवनसाथी, आप और कोई भी अविवाहित बच्चा है।
  5. सरकारी कर्मचारियों का बहिष्कार: यदि आप या आपके परिवार का कोई सदस्य सरकार के लिए काम कर रहा है, तो आप इस योजना में भाग नहीं ले सकते।

Which Documents are required for registration on Pradhan Mantri Viswakarma Yojana?(आवश्यक दस्तावेज)

पीएम विश्वकर्मा पर पंजीकरण करने के लिए लाभार्थियों को कुछ दस्तावेज या जानकारी प्रदान करने की आवश्यकता होती है। यहाँ वह चीज़ है जिसकी आपको आवश्यकता होगी:

  • आधार कार्ड: पंजीकरण के लिए यह एक आवश्यक दस्तावेज है। सुनिश्चित करें कि आपके पास अपना आधार कार्ड है, जो आपकी विशिष्ट पहचान के रूप में कार्य करता है।
  • मोबाइल नंबर: आपके पास एक सक्रिय मोबाइल नंबर होना चाहिए जिसे आधार ओटीपी प्राप्त करने के लिए आधार से जोड़ा जा सके। सुनिश्चित करें कि आपका फ़ोन काम करने की स्थिति में है।
  • बैंक विवरण: बैंक खाता होना आवश्यक है। आपको पीएम विश्वकर्मा से संबंधित लेनदेन के लिए अपने बैंक खाते का विवरण प्रदान करना होगा।
  • राशन कार्ड: यदि आपके पास राशन कार्ड है, तो इसे अपने पंजीकरण के हिस्से के रूप में प्रदान करना आवश्यक है। राशन कार्ड आपके परिवार की पहचान के प्रमाण के रूप में कार्य करता है।

What is the Maximum Loan Amount and Interest Rate Under the Pradhan Mantri Viswakarma Yojana? (ऋण राशि और ब्याज दर)

Low Interest Loans (कम ब्याज वाले ऋण)

पीएम विश्वकर्मा योजना के तहत, कारीगर और शिल्पकार प्रति वर्ष 5% की रियायती ब्याज दर पर 3 लाख रुपये तक का ऋण प्राप्त कर सकते हैं। उनकी सुविधा के लिए यह ऋण दो भागों में प्रदान किया जाता है।

1st Phase: Up to Rs 1 lakh Loan (पहला चरण: 1 लाख रुपये तक का ऋण)

पहले चरण में पात्र व्यक्ति 1 लाख रुपये तक का ऋण प्राप्त कर सकते हैं। यह राशि 18 महीने की आरामदायक अवधि में चुकाई जा सकती है।

2nd Phase: Up to Rs 2 lakh Loan (दूसरा चरण: 2 लाख रुपये तक का ऋण)

एक बार व्यवसाय स्थापित हो जाने पर, कारीगर 2 लाख रुपये के दूसरे चरण के ऋण का उपयोग कर सकते हैं। इस बड़ी राशि को 30 महीने की विस्तारित अवधि में चुकाया जा सकता है।

Skill Development Program (कौशल विकास कार्यक्रम)

पीएम विश्वकर्मा योजना दो स्तरों में कौशल विकास कार्यक्रम भी प्रदान करती है: बुनियादी और उन्नत। इन कार्यक्रमों में भाग लेने वालों को प्रतिदिन 500 रुपये का मानदेय मिलता है।

Recognition and Support (मान्यता और समर्थन)

योजना में नामांकित कारीगरों और शिल्पकारों को पीएम विश्वकर्मा प्रमाण पत्र और एक विश्वकर्मा आईडी कार्ड से पहचाना जाएगा। उन्हें 15,000 रुपये की अतिरिक्त सहायता भी मिलेगी, जिसका उपयोग आधुनिक उपकरण खरीदने, उनके काम की गति और गुणवत्ता बढ़ाने के लिए किया जा सकता है। यह योजना डिजिटल लेनदेन में भी सहायता प्रदान करती है और बाजार गतिविधियों के लिए प्रोत्साहन प्रदान करती है।

Read Also:  PM Sochalay Yojana Application Form 2023 PDF

Pradhan Mantri Viswakarma Yojana का उद्देश्य कारीगरों और शिल्पकारों को सशक्त बनाना, उन्हें अपने व्यवसाय और आजीविका को बढ़ाने के लिए वित्तीय सहायता, कौशल विकास के अवसर और संसाधन प्रदान करना है।

Who will get the Benefit on Pradhan Mantri Viswakarma Yojana? (किस किस को मिलेगा फायदा)

Pradhan Mantri Viswakarma Yojana कारीगरों और शिल्पकारों को ऋण देकर मदद करती है। इस योजना में 18 पारंपरिक व्यापार शामिल हैं। चाहे आप किसी भी प्रकार के कारीगर या शिल्पकार हों, आप इस कार्यक्रम के माध्यम से सहायता प्राप्त कर सकते हैं। यह उन लोगों के लिए एक उपयोगी पहल है जो पारंपरिक व्यवसायों में काम करते हैं।

  1. Carpenter (Suthar) – बढ़ई अथवा लकड़ी का काम करने वाले
  2. Boat Maker – नाव निर्माता
  3. Armourer – कवचकार
  4. Blacksmith (Lohar) – लुहार अथवा लोहे का काम करने वाले लोग
  5. Hammer and Tool Kit Maker – हथौड़ा और अन्य उपकरण किट निर्माता
  6. Locksmith – ताले निर्माता अर्थात ताले बनाने वाला
  7. Goldsmith (Sonar) – सुनार
  8. Potter (Kumhaar) – कुम्हार
  9. Sculptor (Moortikar, stone carver), Stone breaker – मूर्तिकार, पत्थर कलाकार, पत्थर तोड़ने वाला
  10. Cobbler (Charmkar)/Shoesmith/Footwear artisan – चर्मकार / जूता निर्माता / जूता कलाकार
  11. Mason (Rajmistri) – मिस्त्री / चिनाई करने वाला मिस्त्री
  12. Basket/Mat/Broom Maker/Coir Weaver – टोकरी / चटाई / झाड़ू निर्माता / बुनाई करने वाला
  13. Doll & Toy Maker (Traditional) – गुड़िया और खिलौने निर्माता (पारंपरिक)
  14. Barber (Naai) – नाई
  15. Garland maker (Malakaar) – माला बनाने वाले
  16. Washerman (Dhobi) – धोबी
  17. Tailor (Darzi) – दर्जी
  18. Fishing Net Maker – मछली जाल निर्माता

PM Viswakarma Application Status Check (आवेदन स्थिति की जाँच)

आधिकारिक वेबसाइट पर जाएँ: आधिकारिक वेबसाइट – pmvishwakarma.gov.in पर जाएँ।

आवेदक/लाभार्थी लॉगिन: वेबसाइट पर “आवेदक/लाभार्थी लॉगिन” विकल्प ढूंढें।

मोबाइल नंबर दर्ज करें: अपना पंजीकृत मोबाइल नंबर दर्ज करें और कैप्चा सत्यापन पूरा करें।

लॉगिन पर क्लिक करें: अपना मोबाइल नंबर दर्ज करने के बाद “लॉगिन” बटन पर क्लिक करें।

ओटीपी प्राप्त करें: आपके पंजीकृत मोबाइल नंबर पर एक ओटीपी (वन-टाइम पासवर्ड) भेजा जाएगा।

ओटीपी दर्ज करें: प्राप्त ओटीपी दर्ज करें और डैशबोर्ड पर आगे बढ़ें।

आवेदन की स्थिति देखें: डैशबोर्ड पर, आपको अपने पीएम विश्वकर्मा योजना आवेदन की स्थिति मिल जाएगी।

Disclaimer

https://pmvishwakarmainfo.online/ विश्वकर्मा योजना की आधिकारिक वेबसाइट या आधिकारिक स्रोत नहीं है। यह किसी भी सरकारी संगठन, संस्था या व्यक्ति से संबद्ध या संबद्ध नहीं है। कृपया ध्यान रखें कि हमारी वेबसाइट पर उपलब्ध सामग्री केवल सामान्य सूचना उद्देश्यों के लिए है। यद्यपि हम सटीक और अद्यतन जानकारी प्रदान करने का प्रयास करते हैं, हम दृढ़ता से विश्वकर्मा योजना के आधिकारिक और प्रामाणिक स्रोत पर जाने की सलाह देते हैं, जिसे https://pmvishwakarma.gov.in पर देखा जा सकता है। यह आधिकारिक वेबसाइट योजना, इसके लाभ, पात्रता और आवेदन प्रक्रियाओं से संबंधित विस्तृत और सटीक जानकारी के लिए सबसे विश्वसनीय और भरोसेमंद स्रोत है। यह सुनिश्चित करने के लिए कि आपको विश्वकर्मा योजना के संबंध में सबसे सटीक और वर्तमान जानकारी प्राप्त हो, सावधानी बरतना और आधिकारिक सरकारी स्रोतों से किसी भी जानकारी या दावे को सत्यापित करना आवश्यक है।

FAQs (पूछे जाने वाले प्रश्न)

प्रधानमंत्री विश्वकर्मा योजना क्या है?

यह वित्तीय सहायता और प्रशिक्षण प्रदान करके पारंपरिक व्यवसायों में कारीगरों और शिल्पकारों की मदद करने का एक सरकारी कार्यक्रम है।

योजना का लक्षित लाभार्थी कौन है?

कारीगर और शिल्पकार जैसे पारंपरिक व्यवसायों में काम करने वाले लोग मुख्य लाभार्थी हैं।

योजना में किस श्रेणी के व्यापार शामिल हैं?

इसमें पारंपरिक व्यवसायों की एक विस्तृत श्रृंखला शामिल है, जैसे लोहारगिरी, बढ़ईगीरी, बुनाई और कई अन्य।

योजना के तहत प्रारंभिक ऋण की राशि क्या है?

आप बिना किसी गारंटी के 1,00,000 रुपये तक का प्रारंभिक ऋण प्राप्त कर सकते हैं। ऋण 18 महीने तक रहता है।

योजना में ब्याज छूट की दर और राशि क्या है?

ऋण पर आपके द्वारा भुगतान किया जाने वाला ब्याज 5% निर्धारित है। सरकार बैंकों को 8% ब्याज सब्सिडी प्रदान करती है।

योजना के अंतर्गत किस प्रकार का कौशल प्रशिक्षण प्रदान किया जाता है?

यह योजना आपके व्यापार कौशल को बेहतर बनाने में मदद करने के लिए कौशल प्रशिक्षण कार्यक्रम प्रदान करती है।

क्या मैं कौशल प्रशिक्षण कार्यक्रमों में भाग लिए बिना टूलकिट प्रोत्साहन प्राप्त कर सकता हूँ?

हां, यदि आप कौशल प्रशिक्षण कार्यक्रमों में भाग नहीं लेते हैं तो भी आप टूलकिट प्राप्त कर सकते हैं।

योजना के अंतर्गत किस प्रकार की विपणन सहायता प्रदान की जाती है?

यह योजना आपको बड़े व्यवसायों से जुड़ने में मदद करने के लिए गुणवत्ता प्रमाणन, ब्रांडिंग, विज्ञापन और अन्य गतिविधियों सहित विपणन सहायता प्रदान करती है।

क्या कोई सरकारी कर्मचारी पीएम विश्वकर्मा के लिए आवेदन कर सकता है?

नहीं, सरकारी कर्मचारी पीएम विश्वकर्मा के लिए आवेदन नहीं कर सकते।

एक परिवार के कितने सदस्य पीएम विश्वकर्मा के लिए आवेदन कर सकते हैं?

पीएम विश्वकर्मा के लिए प्रति परिवार केवल एक सदस्य ही आवेदन कर सकता है।

मैं आपका समर्पित सरकारी योजना सूचना प्रदाता हूं, जो आपको हमारे राष्ट्र को सशक्त बनाने और उत्थान के लिए डिज़ाइन की गई नवीनतम सरकारी योजनाओं और पहलों के बारे में सूचित रखने के लिए प्रतिबद्ध है। सार्वजनिक सेवा के प्रति जुनून और जटिल जानकारी को सरल बनाने की आदत के साथ, मैं यह सुनिश्चित करने के लिए यहां हूं कि आपके पास विभिन्न सरकारी योजनाओं (योजनाओं) पर नवीनतम और प्रासंगिक जानकारी तक पहुंच हो।

Leave a Comment